December 2, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

आर्यन खान मामले में प्रभाकर सेल ने कैसे पलटा था केस?

सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान ड्रग्स मामले में विटनेस प्रभाकर सेल की हर्ट अटैक से मौत हो गई है। प्रभाकर इस पूरे मामले में NCB का गवाह था। प्रभाकर के वकील तुषार खांडरे के मुताबिक वह चेंबूर के माहुल इलाके में अपने घर पर थे जब दिल का दौरा पड़ने से उनकी मौत हो गई। प्रभाकर सेल का पार्थिव शरीर आज सुबह 11 बजे अंधेरी लाया जाएगा और वहीं पर उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा। मालूम हो कि प्रभाकर ने आर्यन खान ड्रग्स केस में वानखेड़े को 8 करोड़ देने की बात सुनने का खुलासा करके बहुत बड़ा ट्विस्ट ला दिया था।
प्रभाकर सेल ने केपी गोसावी के पर्सनल बॉडीगार्ड होने का दावा किया था। केपी गोसावी की फोटो इंटरनेट पर आर्यन खान के साथ जमकर वायरल हुई थी जिसके बाद वह काफी ज्यादा चर्चा में आ गए थे। आर्यन खान ड्रग्स मामले में प्रभाकर को अहम गवाह के तौर पर देखा जा रहा था। प्रभाकर सेल ने हलफनामे में NCB के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े पर भी आरोप लगाए थे।

फोन पर सुनी थी 25 करोड़ की वसूली की बात?
प्रभाकर ने आरोप लगाया था कि NCB अधिकारियों ने उनसे 10 कोरे कागजों पर साइन लिए थे। प्रभाकर ने कहा था कि उन्होंने 25 करोड़ रुपये की वसूली की बात फोन पर सुनी थी। जहां तक पैसे लेने वाले मामले की बात है तो समीर वानखेड़े ने अपने ऊपर लगे सभी आरोपों से इनकार किया था और बाद में उनका तबादला कर दिया गया।
सेल ने अपने हलफनामे में दावा किया था कि उनके एम्पलॉयर किरण पी गोसावी ने सैम डिसूजा नाम के एक व्यक्ति से बातचीत की थी। गोसावी ने सैम डिसूजा नाम के शख्स से कहा, ‘आपने 25 करोड़ का बम गिराया और चलिए इसे 18 में फाइनल करते हैं, क्योंकि हमें समीर वानखेड़े को 8 करोड़ देना है।’ बता दें कि शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को लॉन्च किए जाने की खबरों के बीच उनकी एक क्रूज पर से गिरफ्तारी हुई थी और पर ड्रग्स लेने और प्रोसेस करने जैसे गंभीर आरोप लगाए गए थे।