August 19, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

ऑल्ट न्यूज के को-फाउंडर मो. जुबैर गिरफ्तार

फैक्ट-चेकिंग वेबसाइट AltNews के को-फाउंडर, पत्रकार मोहम्मद जुबैर को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने सोमवार को अरेस्ट कर लिया। जुबैर पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने का आरोप है। पुलिस ने उन्हें IPC की धारा 153/295 के तहत अरेस्ट किया है।

गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने जुबैर को ड्यूटी मजिस्ट्रेट कोर्ट के सामने पेश किया और 4 दिन की कस्टडी की मांग की थी। पुलिस की मांग पर कोर्ट ने जुबैर को 1 दिन की पुलिस कस्टडी में भेज दिया है। जुबैर की गिरफ्तारी के बाद दिल्ली पुलिस ने कहा कि उनके खिलाफ नफरत फैलाने के पर्याप्त सबूत मौजूद हैं।

चार साल पुरानी पोस्ट पर हुई गिरफ्तारी
जुबैर की गिरफ्तारी जिस पोस्ट को लेकर हुई है, वो पोस्ट 2018 की है। इस पर IFSO डीसीपी केपी एस मल्होत्रा ने कहा कि पोस्ट काफी पूराना होने से फर्क नहीं पड़ता, क्योंकि आपको सिर्फ उसे रीट्वीट कर किसी को टैग कर देना है और वह नया बन जाता है। उन्होंने कहा इस मामले में जुबैर के फोन की ज़रूरत थी, लेकिन उसने फोन को फॉर्मेट किया हुआ था। इसी आधार पर हमने उसे गिरफ़्तार किया।

अगर आप किसी ट्वीट को रीट्वीट करते हैं तो वे आपका विचार है। आप यह नहीं कह सकते कि उसमें क्या था, उससे होने वाली प्रतिक्रिया भी आपकी ज़िम्मेदारी है। हमें किसी ने जुबैर के एक ट्वीट पर टैग किया था। इसी आधार पर हमने मामला दर्ज़ किया। मामले में जब पूछताछ की गई तो वो इससे भाग रहे थे।जुबेर की पोस्ट धर्म विशेष के खिलाफ
दिल्ली पुलिस की ओर से कहा गया कि जुबैर की तरफ से सोशल मीडिया में एक विशेष धर्म समुदाय के खिलाफ जान बूझकर फोटो पोस्ट की गई थी, जिससे लोगों के बीच अशांति फैल रही थी। लोगों के बीच नफरत फैलाने के लिए जुबैर के खिलाफ पर्याप्त सबूत हैं। इसी के आधार पर उन्हें अरेस्ट किया गया है।

इस पोस्ट ने खड़ा किया था विवाद
जुबैर ने फिल्म निर्माता ऋषिकेश मुखर्जी की फिल्म किसी से ना कहना का एक क्लिप शेयर किया था। इसमें एक होटल के बाहर बोर्ड नजर आ रहा है, जिस पर हिंदी में हनुमान होटल लिखा हुआ था। हालांकि उस बोर्ड पर पेंट के निशान से पता चलता है कि इसे पहले हनीमून होटल कहा जाता था और फिर हनीमून को बदलकर हनुमान कर दिया गया। जुबैर ने इस पोस्ट के कैप्शन में लिखा था बिफोर 2014 हनीमून होटल, आफ्टर 2014 हनुमान होटल।