December 4, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

उदयपुर हत्याकांड: प्रेस कॉन्फ्रेंस में गुस्से से लाल दिख रहे राठौर गहलोत से कुर्सी छोड़ने को कहा

राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या (Kanayalal Udaipur News) से पूरे देश में गम और गुस्से का गुबार है। वहीं, सियासी दल भी इस घटना पर गुस्सा दिखा रहे हैं। जयपुर में बीजेपी नेता राज्यवर्धन सिंह राठौर (Rajyavardhan Singh Rathore) जब प्रेस कॉन्फ्रेंस करने पहुंचे तो उनका गुस्से से तमतमाया चेहरा साफ दिख रहा था। उन्होंने उदयपुर की घटना के लिए राज्य की अशोक गहोलत (Ashok Gehlot) सरकार को जिम्मेदार ठहराते हुए हमला बोला। दरअसल, ये गुस्सा केवल राज्यवर्धन का नहीं है। खुद गहलोत सरकार के मंत्री प्रताप सिंह खचरियावस भी इस हमले को लेकर बेहद आहत दिखे और हत्यारों को फांसी की सजा देने की मांग कर दी है।जब राज्यवर्धन प्रेस कॉन्फ्रेंस में पहुंचे तो उनका चेहरा गुस्से से तमतमाया दिख रहा था। उन्होंने राज्य की अशोक गहोलत सरकार पर ताबड़तोड़ हमले बोले। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि बूंदी के एंदर एक मौलाना ने खुलेआम लोगों के गर्दन अलग करने का आह्वान किया, कुछ नहीं हुआ। जोधपुर में दीपक नामक एक शख्स की हत्या हुई, परिवार नाम बताता रहा, राजस्थान पुलिस ने कुछ नहीं किया। जब ऐसा होगा तो जेहादियों के हौसले तो बुलंद होंगे ही।गुबार से भरे दिख रहे राज्यवर्धन ने कहा कि जब भी कोई घटना होती है तो राज्य के सीएम सीधे प्रधानमंत्री से अपील करते हैं। तो ये कुर्सी छोड़ क्यों नहीं देते। ये वोट बैंक की राजनीति समाज को बांट रही है। देश के अंदर और विदेश से जो आतंकी संगठन हमारे देश को अस्थिर करना चाहते हैं, उसको बढ़ावा देने के लिए राजस्थान की भूमि का इस्तेमाल किया जा रहा है। कौन है जो राजस्थान के अंदर सत्ता में रहकर शह दे रहा है?

करौली से लेकर जोधपुर तक गहलोत सरकार फेल…
राठौर ने कहा कि देश में इस हत्या पर अभी लोगों में गुस्सा है। लेकिन ये गुस्सा लोग दायरे में रहकर जाहिर करें। राजस्थान सरकार भी अपनी जिम्मेदारी समझे। करौली का मुख्य साजिशकर्ता अभी भी पुलिस की पकड़ से बाहर है। चाहे करौली हो, झालावाड़ हो, अलवर या जोधपुर हर जगह राजस्थान सरकार नाकामयाब रही है। पिछले 6 महीने के अंदर एक भी सप्ताह ऐसा नही गया जब राजस्थान के अंदर कोई घटना नहीं हुई।