December 2, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद पहली बार नरेंद्र मोदी जा रहे हैं जम्मू कश्मीर

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 खत्म होने के बाद पहली बार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां का दौरा कर रहे हैं. रविवार को पीएम यहां करीब 20 हजार करोड़ रुपये की परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास करेंगे. इसमें इस केंद्र शासित प्रदेश के दोनों क्षेत्रों के हमेशा एक-दूसरे से जोड़ने वाला बनिहाल-काजीगुंड सड़क सुरंग का उद्घाटन भी शामिल है. पीएम ने यह दौरा खास मौके पर चुना है. दरअसल आज राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस है. इस खास अवसर पर वह सांबा जिले की पल्ली पंचायत में होने वाले कार्यक्रम में शामिल होंगे और यहीं से देश भर की ‘ग्राम सभाओं’ को संबोधित करेंगे. वह यहां से देश के हर जिले में 75 जलाशयों के विकास और पुनर्जीवन के प्रयास के तहत प्रधानमंत्री ‘अमृत सरोवर’ नाम से एक नई पहल की शुरुआत भी करेंगे.

कार्यक्रम से जुड़ी खास बात

पीएम इस दौरे में कई ऐसे विकास कार्यों का शिलान्यास और उद्घाटन करेंगे जो जम्मू कश्मीर के लिए काफी महत्वपूर्ण होगा और उसके विकास में सहायक होगा.

देश की सभी 700 ग्राम सभाओं को संबोधित करेंगे
सांबा जिले की पल्ली पंचायत का दौरा करेंगे
322 पंचायतों को डिजिटल माध्यम से पुरस्कार राशि देंगे
20 हजार करोड़ की विकास योजनाओं का उद्घाटन-शिलान्यास
बनिहाल-काजीगुंड सड़क सुरंग का उद्घाटन करेंगे
दिल्ली-अमृतसर-कटरा एक्सप्रेसवे के तीन रोड पैकेजों की आधारशिला
रेटले और क्वार पनबिजली परियोजनाओं की आधारशिला रखेंगे
हर जिले में 75 जल निकायों के विकास से जुड़ी ‘अमृत सरोवर’ का शुभारंभ
सुरक्षकर्मी हाई अलर्ट पर

बता दें कि पीएम के इस दौरे को लेकर सुरक्षाकर्मी हााई अलर्ट पर हैं. पीएम के आने से दो दिन पहले ही जम्मू में एक बड़ी आतंकी घटना को सुरक्षा बलों ने नाकाम कर दिया था. पुलिस की आतंकियों से मुठभेड़ हुई थी, जिसमें एक सैन्य अधिकारी शहीद भी हुए थे, जबकि 2 आतंकियों मार गिराया गया था. रविवार सुबह भी जम्मू में रैली स्थल से 8 किमी दूर एक संदिग्ध धमाके की सूचना थी.

जम्मू में आतंकी हमले के बाद सुरक्षा के कड़े इंतजाम
सांबा जिले की पल्ली पंचायत का दौरा करने वाले हैं
पल्ली गांव की पुलिस, CRPF,SPG ने घेराबंदी की
पल्ली की तरफ आने-जाने वाले हर रास्ते सील
पल्ली गांव में रैली स्थल पर पुलिस-अर्धसैनिक बलों का डेरा
पंचायत घर को कंटीले तार लगाकर सील किया गया