July 1, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

चौथी लहर का खतरा बढ़ा! Omicron के मुकाबले 80% तेजी से बढ़ रहा BA.2

कोरोना वायरस महामारी (Coronavirus Pandemic) ने एक बार प्रकोप मचाना शुरू कर दिया है। कई देशों में बढ़ते मामलों को देखते हुए इसे कोरोना की चौथी लहर (Covid 4th wave) बताया जा रहा है। इस बार कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के बीए.2 सबवेरिएंट (Omicron BA.2 subvariant) ने सबसे ज्यादा तबाही मचाई हुई है।

ओमीक्रोन बीए.2 सबवेरिएंट के सबसे ज्यादा मामले अमेरिका और ब्रिटेन सहित एशिया और यूरोप के कई देशों में बढ़ रहे हैं। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) से लेकर तमाम विशेषज्ञ इसे अब तक का सबसे तेजी से फैलने वाला वेरिएंट बता रहे हैं। हैरानी की बात यह है कि यह अपने मूल रूप ओमीक्रोन की तुलना में अधिक संक्रामक है।

बेशक बीए.2 में तेजी से फैलने की क्षमता है लेकिन विशेषज्ञों का यह भी मानना है कि इससे आने वाले समय में ज्यादा लोग प्रभावित नहीं होंगे क्योंकि अधिकतर लोगों का टीकाकरण हो गया है और प्रतिरक्षा का स्तर भी बढ़ गया है। चलिए जानते हैं कि यह वायरस क्या है, यह इतनी तेजी से क्यों फैल रहा है और इससे चौथी लहर की आशंका पर विशेषज्ञों का क्या मानना है।
80% तेजी से बढ़ रहा है बीए.2
80-2
इस महीने की शुरुआत में प्रकाशित एक ब्रीफिंग पेपर के अनुसार, इंग्लैंड में सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिकारियों ने पाया है कि बीए.2 अपने मूल वेरिएंट ओमीक्रोन यानी बीए.1 की तुलना में 80% तेजी से बढ़ रहा है।

WHO ने बताया सबसे अधिक फैलने वाला वेरिएंट
who-
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) की महामारी विज्ञानी मारिया वैन करखोव ने बीए.2 को कोविड का अब तक का सबसे अधिक फैलने वाला वेरिएंट बताया है और कहा है कि यह दुनिया में फैल रहा है। एक इंटरनेशनल डेटाबेस के अनुसार, यह सबवेरिएंट दुनियाभर अब तक हुए सिक्वेंसिंग में 80% से अधिक नमूनों में पाया गया है।

गंभीर बीमारी का कारण नहीं बन रहा बीए.2
-2
साउथ अफ्रीका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ कम्युनिकेबल डिजीज के एक बड़े अध्ययन के अनुसार, बीए.1 की तुलना में बीए.2 लोगों को अधिक बीमार नहीं बनाता है और यह डेल्टा की तुलना में कम गंभीर है। इसका मतलब यह है कि यह किसी गंभीर बीमारी का कारन नहीं बन रहा है।

टीका लगवा चुके लोगों को भी का रहा संक्रमित