July 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

Women’s World Cup: सेमीफाइनल की आस टूटी, दक्षिण अफ्रीका से हारी भारतीय टीम

महिला क्रिकेट वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के सेमीफाइनल में पहुंचने की आस टूट गई है. लीग स्टेज के अपने आखिरी मुकाबले में भारतीय टीम को दक्षिण अफ्रीका से हार का सामना करना पड़ा. बेहद रोचक रहे इस मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को आखिरी ओवर में जीत के लिए 7 रन बनाने थे, जिसे उन्होंने आखिरी गेंद तक चले संघर्ष में बना लिए.

भारतीय बल्लेबाजों ने जड़े तीन अर्धशतक
मैच में भारतीय कप्तान मिताली राज ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया. कप्तान के इस फैसले को सही साबित करते हुए भारतीय टीम की सलामी बल्लेबाज स्मृति मंधाना (71) और शेफाली वर्मा (53) ने पहले विकेट के लिए 91 रन की साझेदारी की. इन दोनों खिलाड़ियों के बाद कप्तान मिताली राज (68) और हरमनप्रीत कौर (48) ने भी शानदार पारियां खेलीं. आज के मुकाबले में यास्तिका भाटिया (2), पूजा वस्त्रकार (3) और रिचा घोष (8) कुछ खास प्रदर्शन नहीं कर पाईं. निर्धारित ओवरों में भारत ने 7 विकेट खोकर 274 रन का स्कोर खड़ा किया. दक्षिण अफ्रीका की ओर से मसाबाता कलआस और शबनीम इस्माइल ने 2-2 और अयोबोंगा खाका और छोले ट्रायोन ने 1-1 विकेट झटके.

दक्षिण अफ्रीका ने मजबूती के साथ किया लक्ष्य का पीछा
दक्षिण अफ्रीकी टीम ने 275 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए अपना पहला विकेट जल्द ही खो दिया था. सलामी बल्लेबाज लिजले ली 6 रन बनाकर ही पवेलियन लौट गईं थीं. यहां से दूसरे विकेट के लिए लोरा वोल्वार्ड्ट (80) और लारा गूडाल (49) ने 125 रन की साझेदारी कर टीम को मैच में वापसी कराई. इन दोनों खिलाड़ियों के आउट होने के बाद कप्तान सुने लूस (22), मारिजान्ने काप्प (32), कोहले ट्रायोन (17) और त्रिशा चेट्टी (7) थोड़े-थोड़ रन बनाकर आउट होती गईं. वहीं मिगन डुप्रीज 52 रन बनाकर एक छोर पर टिकी रहीं. वह अफ्रीकी टीम को मैच जीताकर पवेलियन लौटीं. मिगन डुप्रीज को ‘प्लेयर ऑफ दी मैच’ भी चुना गया. भारत की ओर से राजेश्वरी गायकवाड़ और हरमनप्रीत कौर को 2-2 विकेट मिले. दक्षिण अफ्रीका की 3 खिलाड़ी रन आउट हुईं.

आखिरी ओवर का रोमांच
दक्षिण अफ्रीका की टीम को आखिरी ओवर में जीत के लिए 7 रन बनाने थे. जबकि उनके 6 विकेट शेष थे. ओवर की दूसरी ही गेंद पर दीप्ती शर्मा ने तृषा चेट्टी को पवेलियन भेज भारत को जीत की उम्मीद दी. एक वक्त मैच में अफ्रीकी टीम को 2 गेंद पर 3 रन की दरकार थी, दीप्ती ने अगली गेंद पर मिगन को लॉन्ग ऑन पर कैच करा दिया. लेकिन यह गेंद नो बॉल रही. अगर यह बॉल ठीक रहती तो अफ्रीकी टीम को 1 गेंद पर 3 रन की जरूरत होती और उसके 8 विकेट भी गिर जाते लेकिन यह गेंद नो बॉल निकली और यहां से भारतीय टीम के हाथ से मैच फिसल गया. अंपायर ने नो बॉल का इशारा कर फ्री हिट दी, जिस पर अफ्रीकी खिलाड़ी ने एक रन निकालकर मैच टाई करा दिया. आखिरी गेंद पर एक रन की दरकार थी, जिसे इस्माइल ने आसानी से चुरा लिया. इस रन के साथ ही भारत का वर्ल्ड कप अभियान यहीं खत्म हो गया.