July 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

जानें दिल्ली के रोजगार बजट की खास बातें

दिल्ली में शनिवार को वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने बजट पेश किया। सिसोदिया ने कहा कि वित्त वर्ष 2022-23 के लिए दिल्ली का बजट ‘रोजगार बजट’ है। उन्होंने कहा कि अगले पांच साल में 20 लाख नई नौकरियां पैदा की जाएंगी। उप मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली की अर्थव्यवस्था कोविड-19 के मार से धीरे-धीरे उबर रही है। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने वित्त वर्ष 2022-23 के लिए 75,800 करोड़ रुपये का बजट पेश किया। वित्त वर्ष 2022-23 के लिए दिल्ली के बजट में नगर निकायों को 6,154 करोड़ रुपये आवंटित किए गए। आगामी पांच साल में दिल्ली में कामकाजी आबादी 33 प्रतिशत से बढ़कर 45 प्रतिशत हो जाएगी। वित्त मंत्री ने कहा कि हमारी सरकार सत्ता में आने से पहले दिल्ली का बजट 30,940 करोड़ रु.था और मैंने जून 2015 में 41,149 करोड़ रु.का अपना पहला बजट पेश किया था। उन्होंने कहा कि आज मुझे खुशी हो रही कि 2022-2023 के लिए मैं 75,800 करोड़ रुपये का बजट पेश कर रहा हूं।
शिक्षा क्षेत्र के लिए 16 हजार 278 करोड़ रुपये
दिल्ली सरकार ने बजट में शिक्षा के लिए 16,278 करोड़ रुपये आवंटित किए। बजट में राजधानी के चिराग दिल्ली एरिया में स्कूल साइंस म्यूजियम बनाने का प्रस्ताव है। इसके अलावा बेघर बच्चो के बोर्डिंग स्कूल के लिए 10 करोड़ रुपये का भी प्रावधान किया गया है। वहीं, अनधिकृत कॉलोनियों में नालों, गलियों, पानी की आपूर्ति के लिए 1,300 करोड़ रुपये आवंटित किए गए। सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में स्मार्ट शहरी खेती को बढ़ावा दिया जाएगा।, पूसा संस्थान के सहयोग से इसे जन आंदोलन में बदला जाएगा। इससे 25,000 रोजगार सृजित होने की उम्मीद है। सिसोदिया ने कहा कि हम अगले 5 वर्षों में रिटेल सेक्टर में 3 लाख रोजगार और अगले 1 वर्ष में 1.20 लाख से अधिक नए रोजगार के अवसर पैदा करने की उम्मीद करते हैं।
दिल्ली के बजट में इस बार हेल्थ सेक्टर पर खास ध्यान दिया गया है। वित्त मंत्री मनीष सिसोदिया ने हेल्थ सेक्टर के लिए 9,669 करोड़ रुपये आवंटित किए। बजट में बताया गया कि मोहल्ला क्लीनिक और पॉलीक्लिनिक के लिए 475 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं। इसके अलावा दिल्ली सरकार के अस्पतालों को अपग्रेड करने के लिए 1,900 करोड़ रुपये का प्रावधान है।
100 करोड़ से विकसित होंगे पांच मशहूर बाजार
सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में नया इलेक्ट्रॉनिक शहर स्थापित किया जाएगा। वित्त मंत्री ने कहा कि 10 डेढ़ लाख नौकरियां पैदा करने के लिए दिल्ली में पांच प्रसिद्ध बाजारों को विकसित किया जाएगा। इसके लिए 100 करोड़ रुपये आवंटित किए गए। ‘दिल्ली शॉपिंग फेस्टिवल’ में खुदरा बाजार को बढ़ावा देने, ‘दिल्ली होलसेल शॉपिंग फेस्टिवल’ से थोक बाजार को बढ़ावा देने का प्रस्ताव है। शॉपिंग फेस्टिवल से पर्यटकों की संख्या 4 लाख तक बढ़ने का अनुमान है। इन क्षेत्रों में कार्यरत 12 लाख लोगों को फायदा मिलने की उम्मीद है।