February 28, 2024

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

भारत के पास ब्रह्मोस लेकिन, पाकिस्तान की मिसाइलें कितनी खतरनाक?

भारत और पाकिस्तान में इन दिनों गलती से फायर हुई एक मिसाइल को लेकर तनाव बना हुआ है। पाकिस्तान ने भारत पर तीखा हमला करते हुए मिसाइल का नाम और उसके स्पेसिफिकेशन के बारे में जानकारी मांगी है। भारत ने तकनीकी खराबी के कारण पाकिस्तान में मिसाइल घुसने पर खेद जताया था। जिसके बाद पाकिस्तान ने धमकी देते हुए कहा है कि अगर उसने आत्मरक्षा में जवाबी कार्रवाई की होती तो इसके गंभीर परिणाम हो सकते थे। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि भारत के सामने पाकिस्तान की मिसाइल ताकत कितनी है।
हत्फ-1
पाकिस्तान की हत्फ-1 टेक्टिकल और सबसोनिक अनगाइडेड मिसाइल है। इस मिसाइल को 1980 के दशक में विकसित किया गया था। इसकी रेंज 70 से 100 किलोमीटर के बीच है। यह मिसाइल अपने साथ 500 किलोग्राम तक का वॉरहेड लेकर जा सकती है।
हत्फ-2 या अब्दाली
हत्फ-2 मिसाइल को अब्दाली के नाम से भी जाना जाता है। यह मिसाइल सुपरसोनिक स्पीड से उड़ने वाली मिसाइल है। सतह से सतह पर मार करने वाली इस मिसाइल की रेंज 290 किलोमीटर बताई जाती है।
हत्फ-3 या गजनवी
पाकिस्तान के हत्फ-3 को गजनवी मिसाइल के नाम से जाना जाता है। पाकिस्तान का दावा है कि हत्फ-3 या गजनवी एक हाइपरसोनिक मिसाइल है। इसकी मारक क्षमता 290 किलोमीटर तक है। यह अपने साथ 700 किलोग्राम तक विस्फोटक लेकर उड़ान भर सकती है।
हत्फ-4 या शाहीन-1
हत्फ-4 मिसाइल को शाहीन-1 भी कहा जाता है। यह मिसाइल 750 किलोमीटर तक मार करने में सक्षम है। इसका दूसरा वेरिएंट शाहीन-1ए की रेंज 900 किलोमीटर बताई जाती है। शाहीन-1 9500 किलोग्राम तक के वॉरहेड के साथ हमला कर सकती है। इस मिसाइल की लंबाई 12 मीटर है।
हत्फ-5 या गौरी-1
हत्फ -5 या गौरी-1 की रेंज 1500 किलोमीटर की है। यह अपने साथ 700 किलो तक विस्फोटक ले जा सकती है। इसे पाकिस्तान, उत्तर कोरिया और ईरान ने मिलकर 1980 से बनाना शुरु किया था। 1998 में इसका पहला परीक्षण किया गया और 2003 में इसे सेना में शामिल किया गया था।
हत्फ-6 या शाहीन-2
हत्फ-6 या शाहीन-2 पाकिस्तान की मीडियम रेंज की बैलिस्टिक मिसाइल है। सकी मारक क्षमता 1500 से 2000 किलोमीटर है। यह अपने साथ 700 किलोग्राम तक विस्फोटक लेकर जा सकती है। शाहीन-2 की लंबाई 17.2 मीटर है और व्यास 1.4 मीटर है। इस मिसाइल का पहला प्रदर्शन मार्च 2000 में किया गया था।