December 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

कश्मीर में सेना को मिली बड़ी कामयाबी, तीन पाकिस्तानी आतंकियों को किया ढेर

जम्मू-कश्मीर के बारामूला में सुरक्षा बलों को बड़ी कामयाबी मिली है। आज सुबह ही शुरू हुई मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को मार गिराया है। तीनों ही आतंकी पाकिस्तान से घुसपैठ कर आए थे। इस पूरी कार्रवाई में एक पुलिसकर्मी शहीद भी हो गया है।

आईजीपी कश्मीर विजय कुमार ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि इस मुठभेड़ में तीन पाकिस्तानी आतंकवादी मारे गए और जम्मू-कश्मीर पुलिस का एक जवान भी शहीद हो गया।

आतंकी हमले में कल भी एक पुलिसकर्मी शहीद, बेटी घायल
मंगलवार को ही जम्मू-कश्मीर में श्रीनगर के सौरा इलाके में आतंकवादियों ने एक पुलिस कांस्टेबल के घर के बाहर उन पर अंधाधुंध गोलियां बरसाईं। इस हमले में कांस्टेबल शहीद हो गए जबकि उनकी सात वर्षीय बेटी घायल हो गई। अधिकारियों ने यह जानकारी दी थी।

उन्होंने बताया कि आतंकियों ने कांस्टेबल सैफुल्ला कादरी पर उस समय गोलीबारी की, जब वह अपनी बेटी को ट्यूशन छोड़ने जा रहे थे। कादरी तीसरे ऐसे पुलिसकर्मी हैं जिनकी इस महीने आतंकवादियों ने हत्या कर दी।

एक अधिकारी ने बताया कि आतंकियों ने श्रीनगर जिले में अनचार इलाके के गनई मोहल्ले में स्थित कादरी के घर के बाहर उन पर हमला किया। उन्होंने बताया कि कादरी और उनकी बेटी को एसकेआईएमएस अस्पताल ले जाया गया, जहां उनकी मौत हो गई। अधिकारी ने बताया कि बच्ची के दाएं हाथ में गोली लगी है और वह खतरे से बाहर है।

कश्मीर रेंज के पुलिस महानिरीक्षक विजय कुमार ने कांस्टेबल की हत्या पर शोक जताया और कहा कि हमलावरों को पकड़ने के लिए आसपास के इलाकों में पुलिस दलों को भेजा गया है। उन्होंने कहा,‘हम जल्द ही उन्हें (आतंकियों) पकड़ लेंगे।’

अवंतीपोरा में जैश के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़, 8 दबोचे
जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सुरक्षाबलों के साथ मिलकर अवंतीपोरा में प्रतिबंधित आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने कहा कि विशिष्ट इनपुट के आधार पर आठ संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार किए गए लोगों की पहचान वागड़ निवासी मुश्ताक अहमद डार, इश्फाक अहमद डार, मंजूर अहमद डार और पास्टुना निवासी फैयाज अहमद राथर, शब्बीर अहमद राथर, मोहम्मद लतीफ राथर, शीराज अहमद मीर और वसीम अहमद भट के रूप में हुई है। ये सभी जैश के दो सक्रिय आतंकियों आसिफ शेख और एजाज भट को आश्रय, रसद और हथियार आदि मुहैया कराने में शामिल थे।