July 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

दिल्‍ली, गुड़गांव, नोएडा, गाजियाबाद… अप्रैल में हर जगह कोरोना बढ़ा, जानें चौथी लहर पर क्‍या बोले एक्‍सपर्ट्स

राजधानी और उससे सटे उत्‍तर प्रदेश व हरियाणा के शहरों में कोरोना फिर बढ़ रहा है। दिल्‍ली से पिछले 24 घंटों में 299 केस आए जो 40 दिन का सर्वाधिक आंकड़ा है। यहां पॉजिटिविटी रेट ढाई प्रतिशत के पास है। पड़ोस के गुड़गांव में तो संक्रमण की दर 9% के पार चली गई है। गुड़गांव में 43 दिन बाद बुधवार को 24 घंटे में 146 नए संक्रमितों की पहचान हुई। नोएडा में 4 दिन में 30 से अधिक बच्चे संक्रमित हुए हैं जबकि गाजियाबाद के दो और स्‍कूलों में भी कोरोना केस मिले हैं। दिल्‍ली में जहां पिछले 24 घंटों में 48% केस बढ़े हैं, यूपी में इसी दौरान कोरोना के नए केसों की संख्या दोगुनी हो गई है। बुधवार को मुंबई से 73 नए मामले सामने आए। यह आंकड़ा 17 मार्च के बाद एक दिन का सर्वाधिक है। वहां टोटल केस 10,58,567 हो चुके हैं। अप्रैल में कोरोना के आंकड़ों में यह उछाल क्‍यों है? क्‍या यह चौथी लहर की आहट है? क्‍या नया XE वैरिएंट और चुनौतीपूर्ण होगा? एक्‍सपर्ट्स की मानें तो अभी चिंता की बात नहीं है। उन्‍होंने यह जरूर कहा कि इस वक्‍त केसेज में जो इजाफा देखने को मिल रहा है, उसके पीछे लोगों की लापरवाही है।

अभी क्‍यों बढ़ रहा कोरोना?
दिल्‍ली के कई डॉक्‍टर्स ने बताया कि उनके यहां पिछले दिनों ओपीडी में कोविड से जुड़े मरीज बढ़े हैं। इंद्रप्रस्‍थ अपोलो में सीनियर कंसल्‍टेंट (इंटरनल मेडिसिन) डॉ सुरनजीत चटर्जी ने कहा, ”मैंने पिछले हफ्ते 7-10 मामले देखे हैं। इनमें से केवल एक को ही हॉस्पिटलाइजेशन की जरूरत पड़ी, वह भी क्योंकि मरीज को दूसरी गंभीर बीमारी थी।’ मैक्‍स पटपड़गंज के डॉ मुकेश मेहरा ने भी कहा कि केसेज जरूर बढ़े हैं मगर हॉस्पिटलाइजेशंस नहीं। उन्‍होंने कहा, ‘इस इजाफे के पीछे एक वजह स्‍कूलों का फिर से खुलना हो सकता है। और तो और, लोग कोविड से जुड़ी सावधानियों का पालन भी नहीं कर रहे।’