December 1, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

माइक्रोसॉफ्ट ने की कर्मचारियों की छंटनी, जानिए कंपनी ने क्या वजह है बताई

हाल फिलहाल में दुनिया की कई बड़ी कंपनियां छंटनी के संकेत दे रही हैं और आर्थिक मंदी की आहट का हवाला देकर अपना वर्कफोर्स कम कर रही हैं. ये कवायद अब बिग टेक कंपनियों तक पहुंच गई है. सत्या नडेला द्वारा संचालित माइक्रोसॉफ्ट ‘रीस्ट्रक्चरिंग’ के हिस्से के रूप में कर्मचारियों की छंटनी करने वाली पहली टेक दिग्गज बन गई है. माइक्रोसॉफ्ट में छंटनी उसके कार्यालयों और प्रोडक्ट डिविजन्स के 1.81 लाख कर्मचारियों की लगभग 1 फीसदी है.

छंटनी के पीछे स्ट्रक्चरल एडजेस्टमेंट को बताया वजह
माइक्रोसॉफ्ट ने मंगलवार देर रात एक बयान में बिजनेस टेलीविजन चैनल को बताया, “सभी कंपनियों की तरह हम नियमित रूप से अपनी व्यावसायिक प्राथमिकताओं का मूल्यांकन करते हैं और उसी के मुताबिक स्ट्रक्चरल एडजेस्टमेंट करते हैं.” कंपनी ने कहा, “हम अपने व्यवसाय में निवेश करना जारी रखेंगे और आने वाले वर्ष में कुल मिलाकर कर्मचारियों की संख्या में वृद्धि करेंगे.” हालांकि कंपनी में छंटनी की ये खबर 5 साल में पहली बार आई है.

माइक्रोसॉफ्ट ने हायरिंग भी घटाई
माइक्रोसॉफ्ट ने विंडोज, टीम्स और ऑफिस ग्रुप्स में हायरिंग को भी कम कर दिया है. टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक कंपनी के एक प्रवक्ता ने इस जानकारी को कंफर्म किया है कि कल उन्होंने कुछ कर्मचारियों को एलिमिनेट करने की दिशा में काम किया है.

माइक्रोसॉफ्ट ने घटाया आय और राजस्व अनुमान
माइक्रोसॉफ्ट ने अपनी तीसरी तिमाही में मजबूत आय दर्ज की, जिसमें क्लाउड राजस्व में 26 फीसदी की बढ़त (ऑन-ईयर) और कुल राजस्व 49.4 बिलियन डॉलर था. हालांकि, पिछले महीने, कंपनी ने अपने चौथी तिमाही में रेवेन्यू और इनकम गाइडेंस को नीचे की ओर संशोधित किया.

हाल फिलहाल में इन कंपनियों ने की वर्कफोर्स की कटौती
ट्विटर ने भी अपनी भर्ती टीम में 30 फीसदी की कटौती की है, जबकि एलन मस्क द्वारा संचालित टेस्ला सैकड़ों कर्मचारियों की छंटनी कर रही है. जिन अन्य टेक कंपनियों ने हायरिंग को धीमा किया है, उनमें एनवीडिया, स्नैप, उबर, स्पॉटिफाई, इंटेल और सेल्सफोर्स शामिल हैं. मीडिया ने बताया कि क्लाउड प्रमुख ओरेकल ने हाल ही में लागत में कटौती के उपायों में 1 बिलियन डॉलर तक बचाने के लिए हजारों कर्मचारियों की छंटनी करने पर विचार किया है.