August 18, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

देवघर में क्या बोले मोदी

योजनाओं की सौगात के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बाबा की नगरी देवघर में रोड शो किया। लोगों ने पीएम मोदी का जबरदस्त स्वागत किया। इस दौरान लोगों ने ‘हर-हर मोदी, घर-घर मोदी के नारे भी लगाए। देवघर एयरपोर्ट में झारखंड को 16 हजार 800 करोड़ रुपये से अधिक की विकास योजनाओं का सौगात देने के बाद पीएम मोदी बाबा वैद्यनाथ धाम मंदिर पहुंचे और पूजा अर्चना की। इसके बाद पीएम मोदी ने देवघर कॉलेज मैदान में अभिनंदन रैली को भी संबोधित किया।

पीएम मोदी ने कहा कि सोमवार को देवघर की दिवाली को पूरा देश देख रहा था कि जब विकास की गंगा बहती है, तो जन-जन को कितना आनंद होता है। उन्होंने कहा कि एक तरफ बाबा का आशीर्वाद, दूसरी तरफ ईश्वर रूपी जनता का आशीर्वाद, दोनों आशीर्वाद बड़ी ताकत देती है, अब देवघर में श्रावणी मेला अलग रूप रंग में मनेगी।

पीएम मोदी ने कहा कि जिस प्रकार बाबाधाम में योजनाओं का विस्तार हुआ है, जिस नये एयरपोर्ट के शिलान्यास के लिए देवघर आने का सौभाग्य मिला था, आज उसके लोकार्पण, पहले घोषणा होती थी, पत्थर लगाता, फिर शिलान्यास होती और पता नहीं कितनी सरकार जाने के बाद योजना पूरी होती है, आज उस संस्कृति को लाये हैं, जिसका शिलान्यास करते हैं, उसका उदघाटन भी करते हैं। जनता के पसीनों से आये पैसे का मूल्य समझते हैं, जनता का पैसा बर्बाद ना हो जाए, उसका उपयोग जनता जर्नादन के लिए हो, इसका प्रयास करते हैं।

एयरपोर्ट से बाबाधाम की दूरी करीब 11.50 किमी है और इस दौरान रोड शो के माध्यम से प्रधानमंत्री आपार जनसमूह का आभार करते हुए बाबा मंदिर पहुंचे। रोड शो में कई स्थानों पर पीएम मोदी अपने वाहन से बाहर निकल लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। इस दौरान रास्ते भर में पीएम मोदी अपने वाहन के गेट से बाहर हाथ निकाल कर लोगों का शुक्रिया अदा करते रहे।

पीएम मोदी ने कहा कि आज 16 हजार करोड़ रुपये, आस्था, विश्वास और तीर्थस्थल की धरती है, बेहतर राज्य है। देवघर में शिव भी हैं और शक्ति भी। ज्योतिर्लिंग और शक्तिपीठ यहां दोनों मौजूद हैं, हर साल यहां लाखों श्रद्धालु दूर-दूर से गंगाजल लेकर आते हैं, भले ही बोली-भाषा समझ में नहीं आये, लेकिन संस्कृति साझी अमानत है।

आधुनिक सुविधाएं तैयार की जा रही है, आज पर्यटन , दुनिया के अनेक देशों में आकर्षक उद्योग के रूप में रोजगार का बड़ा माध्यम बना है, आज पूरी दुनिया में अनेक देश है, जिनकी पूरी अर्थव्यवस्था पर्यटकों के भरोसे स ेचल रही है, भारत के कोने-कोने में पर्यटन की शक्ति आपार है, हमें इसे और बढ़ाने की जरूरत है, आज दुनिया नये स्थानों को नये कल्चर को देखना चाहती है, जुड़ना चाहती है, समझना चाहती है, लोग पुरानी विरासत को देख कर आंखें चौड़ी कर लेते है, लेकिन जब भारत में अब यहां आती है, तो हजारों वर्ष पुरानी परंपरा जब देखती है, तो चकाचौंध और उनके मन को प्रसन्न कर देती है, भारत ज्यादा से ज्यादा और तेजी से इस दिशा में पहल करें।

पीएम मोदी ने कहा कि जहां जहां सुविधाएं बढ़ी, वहां पर्यटन को बढ़ावा मिला, जब से काशी में विकास की गति ने , वाराणसी आने वाले श्रद्धालुओं आने वाले संख्या बढ़ोत्तरी, तीन साल पहले आने वाले श्रद्धालुओं की संख्या, होटल, ढाबा, नाव, फूल, पूजा सामान, चाय बेचने वालों को भी बहुत फायदा हुआ है, उनका कारोबार बहुत बढ़ा है, कारीगर-बुनकर की बिक्री भी बहुत ज्यादा बढ़ी है।

उन्होंने कहा कि केदारनाथ में भी सुविधा में बढ़ोत्तरी नहीं होने पर कपाट खोलने के पहले दो महीने में ढाई लाख श्रद्धालु आते हैं, इस बार 9 लाख श्रद्धालु आ चुके हैं, नर्मदा के तट पर सरदार बल्लभ भाई पटेल की सबसे ऊंची मूर्ति बनी है, मूर्ति बनने के बाद लाखों श्रद्धालु आते हैं, पर्यटन से अर्थव्यवस्था में तेजी आये, वहां रहने वाले लोगों और आदिवासी भाई बहनों को हो रहा है।