June 25, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

अग्निपथ योजना पर बवाल के बीच गृह मंत्रालय का बड़ा फैसला, अग्निवीरों के लिए सीटें होंगी आरक्षित, आयु सीमा में भी छूट

केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में चल रहे बवाल के बीच केंद्रीय गृहमंत्रालय की तरफ से एक ट्वीट किया गया है. जिसमें बताया गया है कि CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को कितने फीसदी आरक्षण दिया जाएगा. गृहमंत्रालय की तरफ से बताया गया है कि इन अर्धसैनिक बलों में अग्निवीरों को 10 फीसदी का आरक्षण देने का फैसला किया गया है.

आयु सीमा में भी मिलेगी छूट
देश के कई हिस्सों में अग्निपथ पर लगातार हो रहे बवाल के बीच गृह मंत्रालय की तरफ से ट्वीट कर बताया गया है कि, गृह मंत्रालय ने CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में अग्निपथ योजना के अंतर्गत 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों के लिए 10% रिक्तियों को आरक्षित करने का महत्वपूर्ण निर्णय लिया है. साथ ही गृह मंत्रालय ने CAPFs और असम राइफल्स में भर्ती के लिए अग्निवीरों को निर्धारित अधिकतम प्रवेश आयु सीमा में 3 वर्ष की छूट देने का निर्णय किया है. और अग्निपथ योजना के पहले बैच के लिए यह छूट 5 वर्ष होगी.बता दें कि पिछले चार दिनों से देश के अलग-अलग राज्यों में अग्निपथ योजना को लेकर प्रदर्शन जारी हैं. कई जगहों पर प्रदर्शन के नाम पर आगजनी और तोड़फोड़ की जा रही है. देशभर के युवा सरकार से अपील कर रहे हैं कि वो इस फैसले को तुरंत वापस ले. हालांकि सरकार युवाओं को शांत करने के लिए इस योजना में कई तरह के बदलाव कर रही है, इससे पहले भी भर्ती के लिए आयुसीमा और अर्धसैनिक बलों में वरीयता देने की बात कही गई थी, लेकिन इससे भी कोई असर नहीं हुआ.

दो दिन में शुरू होगी भर्ती प्रक्रिया
सेना ने बताया है कि, भर्ती के लिए प्रारंभिक अधिसूचना जारी कर दो दिनों के भीतर ‘अग्निपथ’ योजना के तहत इसकी प्रक्रिया औपचारिक रूप से शुरू कर दी जाएगी. सेना अधिकारियों ने बताया कि प्रारंभिक अधिसूचना जारी होने के बाद, सेना की विभिन्न एजेंसियां और प्रतिष्ठान बाद में भर्ती प्रक्रिया के विवरण जैसे रिक्तियों की संख्या, भर्ती रैलियों का स्थान और परीक्षा कार्यक्रम की जानकारी देंगे. अधिकारियों ने बताया कि सेना ने ‘अग्निपथ’ योजना के तहत रंगरूटों का प्रशिक्षण दिसंबर तक शुरू करने का लक्ष्य रखा है. उन्होंने बताया कि सेना ने अगले साल जून तक इस नई योजना के तहत भर्ती रंगरूटों के शुरुआती बैच को अभियानगत और गैर-अभियानगत भूमिकाओं में तैनात करने की योजना बनाई है.