December 2, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

अब डाकिया पहुंचाएगा पीएम किसान योजना के पैसे

अगर आप भी पीएम किसान योजना (PM Kisan Yojana) के लाभार्थी हैं, तो आपके लिए एक अच्छी खबर है। अब किसानों को पीएम किसान योजना के तहत मिले पैसे लेने के लिए शहर जाकर बैंकों के चक्कर नहीं लगाने होंगे। दरअसल, सरकार ने डाक विभाग के जरिए पैसे किसानों तक पहुंचाने की योजना बनाई है। इसके तहत डाकिया किसानों के घर जाकर किसान सम्मान निधि का पैसा देगा। डाकिया अपने साथ एक हैंड होल्ड मशीन लेकर जाएगा, जिस पर अंगूठा लगवाकर किसानों को पैसे दिए जाएंगे।केंद्र सरकार की तरफ से किसान निधि की राशि किसानों के घर पहुंचाने की जिम्मेदारी डाक विभाग को दी गई है। इसके लिए सरकार ने डाक विभाग को खास अधिकार दिए हैं। अभी तक किसान बैंक के अलावा डाकघर जाकर भी पैसे निकाल सकते हैं। पोस्ट ऑफिस के अधिकारियों को आदेश भी दिए हैं। 13 जून तक इसे लेकर एक खास अभियान चलाया जाएगा। अच्छी बात तो ये है कि इसके लिए किसानों से अतिरिक्त शुल्क नहीं वसूला जाएगा।पीएम मोदी ने 31 मई को 10 करोड़ से भी अधिक किसानों के खाते में पीएम किसान सम्मान निधि की 11वीं किस्त ट्रांसफर की गई। इसके तहत इन सभी किसानों के खाते में 2-2 हजार रुपये भेजे गए। अब कई किसानों को सरकार की तरफ से रिकवरी का नोटिस भी जारी किया गया है। यह नोटिस उन किसानों के भेजा गया है को पीएम किसान सम्मान निधि के लिए अपात्र थे, लेकिन उन्हें पैसे भेज दिए गए।हिन्दुस्तान में छपी एक खबर के मुताबिक, यूपी के सुल्तानपुर जिले के एक किसान को जारी नोटिस में कहा गया है कि उसकी पहचान एक टैक्सपेयर के रूप में हुई है। कहा गया है कि उस किसान ने यह जानते हुए योजना में पंजीकरण कराया कि वह इसके लिए अपात्र है। यानी वह किसान अवैधानिक रूप से इस योजना का लाभ ले रहा है। नोटिस में लिखा है कि किसान को योजना के तहत मिली सारी रकम वापस लौटानी होगी।यूपी के कृषि निदेशक विवेक सिंह ने इसकी पुष्टि की है। उनके अनुसार सभी करदाताओं से कहा गया है कि वह पीएम किसान के तहत लिए गए पैसे वापस करें। अपर महानिदेशक वी.के. सिसौदिया की मानें तो 2019 के आयकर विवरण के हिसाब से ऐसे करदाताओं की लिस्ट तैयार की गई है, जो पीएम किसान योजना का गलत तरीके से फायदा उठा रहे थे। रिपोर्ट्स के अनुसार सिर्फ यूपी के कुशीनगर जिले में ही करीब 2800 किसानों को नोटिस जारी किया गया है और सभी को पैसे लौटाने होंगे।