December 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

CDS बनाने के लिए सरकार ने आर्मी एक्ट में की तब्दीली

सरकार ने नए सीडीएस (CDS) की नियुक्ति से पहले आर्मी सर्विस रुल्स (Army Service Rules) में एक बड़ा बदलाव किया है. अब सीडीएस के पद के लिए लेफ्टिनेंट जनरल रैंक के वो अधिकारी भी चुने जा सकते हैं जिनकी उम्र 62 साल से ज्यादा नहीं है. खास बात ये है कि 62 साल से कम उम्र के रिटायर लेफ्टिनेंट जनरल (Retired Lt General) रैंक के अधिकारी भी अब सीडीएस पद के हकदार हो सकेंगे. अभी तक जनरल रैंक यानि फॉर-स्टार सैन्य अधिकारी ही सीडीएस पद पर पहुंच सकता था.

सरकार ने सीडीएस पद की नियुक्ति के लिए नया गजट-नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. गजट नोटिफिकेशन थलसेना, वायुसेना और नौसेना तीनों के लिए जारी किया गया है. नए गजट नोटिफिकेशन में साफ तौर से कहा गया है कि अब जनरल (या एयर चीफ मार्शल और एडमिरल) और लेफ्टिनेंट जनरल (या उनके तुल्य एयर मार्शल और वाइस एडमिरल) रैंक के वे अधिकारी जो 62 साल से कम उम्र के हैं वे सीडीएस पद के लिए योग्य हैं.
इसके अलावा वे जनरल और लेफ्टिनेंट जनरल जो रिटायर हो चुके हैं और 62 साल से कम उम्र के हैं वे भी सीडीएस पद के लिए योग्य हैं. आपको बता दें कि पिछले छह महीने से चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानि सीडीएस का पद खाली पड़ा है. पिछले साल यानि दिसम्बर 2021 में तत्कालीन सीडीएस, जनरल बिपिन रावत की हेलीकॉप्टर क्रैश में हुई मौत के बाद से सीडीएस का पद खाली पड़ा है. लेकिन नए गजट नोटिफिकेशन के बाद माना जा रहा है कि अब सीडीएस का पद जल्द भर सकता है.

कब बनाया गया था सीडीएस का पद?

नए गजट नोटिफिकेशन से जितने भी रिटायर आर्मी या फिर नेवी और एयरफोर्स चीफ हैं वे सीडीएस की दौड़ से बाहर हो गए हैं. क्योंकि थलसेना (Army), वायुसेना (Airforce) और नौसेना (Navy) के प्रमुख 62 साल की उम्र पर ही रिटायर होते हैं. आपको बता दें कि वर्ष 2019 में जब सरकार ने पहली बार सीडीएस का पद बनाया था और जनरल बिपिन रावत को सीडीएस बनाया था उस वक्त सिर्फ नोटिफिकेशन में ये कहा गया था कि सेना के तीनों अंगों के प्रमुख ही सीडीएस (CDS) बन सकते हैं और वे 65 साल तक अपनी सेवाएं दे सकते हैं. यही वजह है कि तत्कालीन थलेसना प्रमुख जनरल बिपिन रावत (Gen Bipin Rawat) को रिटायरमेंट से एक दिन पहले ही सीडीएस बनाने की घोषणा कर दी गई थी.