July 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

लॉकडाउन के बाद अमेरिका में नया ट्रेंड, शादी में गिफ्ट नहीं नकद पैसे मांग रहे दूल्हा-दुल्हन

शादियों का सीजन होता है तो मेहमान दूल्हा-दुल्हन के लिए गिफ्ट ले जाना नहीं भूलते हैं. हर मेहमान अपनी हैसियत के मुताबिक नये जोड़े को गिफ्ट देता है. लेकिन जब इन्हीं मेहमानों को पता चले कि दूल्हा-दुल्हन को गिफ्ट नहीं बल्कि उसके बदले पैसे चाहिए तो सोचिए क्या होगा. अमेरिका में आजकल यहीं ट्रेंड चल रहा है यहां दूल्हा-दुल्हन अपनी शादी में गिफ्ट नहीं मांग रहे, मांग कर रहे हैं पैसों की. ऐसा क्यों है इसके पीछे भी एक कारण है.

दरअसल हम सभी को पता है कि कोरोना ने पूरी दुनिया में ही आतंक मचा रखा है. लॉकडाउन लगने के बाद से लोगों की हालत खस्ता हो गई है. जेब से कड़की झेल रहे अमेरिकी युवा अब गिफ्ट की मांग नहीं कर रहे. अब उनको इसके बदले में पैसे चाहिए. इसके लिए ये लोग इन्विटेशन कार्ड पर लिखवा रहे हैं कि शादी में आएं, खाना खाएं और पूरा एन्ज्वाय करें. यदि आप गिफ्ट लाने की सोच रहे हैं तो वो न लाएं बल्कि उसके बदले पैसे देकर जाएं. इसके पीछे ये लोग तर्क दे रहे हैं कि उन्हें अपना नया घर खरीदना है जिसके लिए पैसों की जरूरत है.

गिफ्ट की जगह पैसे मांगने में नहीं है कोई शर्म

अमेरिका में चले इस नए ट्रेंड के मुताबिक नये जोड़े को पैसे मांगने में कोई शर्म महसूस नहीं होती है. इस मामले पर एक नये जोड़े का कहना है कि बहुत सारे अनचाहे गिफ्ट मिलने से अच्छा है कि वो पैसे मांग लें या अपनी जरूरत सामने रख दें. एक बयान के मुताबिक भले ही अमेरिकी संस्कृति में गिफ्ट के तौर पर पैसे स्वीकार करने का रिवाज सालों से हैं लेकिन इसे खुले तौर पर कभी नहीं मांगा गया है लेकिन अब लोगों का नजरिया बदल गया है.

कोरोना के बाद से बदल गया है ट्रेंड

अमेरिका में शादी कराने वाले लोगों का कहना है कि शादी में पैसे मांगने का ट्रेंड 2021 से लेकर अब तक बढ़ा है. तो वहीं दूसरी तरफ इस तरह के ट्रेंड पर सवाल उठ रहे हैं. अमेरिकी के फेमस कॉलमिस्ट थॉमस फार्ली का कहना है कि शादी कोई उगाही करने का साधन नहीं बल्कि एक जलसा है और जलसे में आने की कोई कीमत नहीं ली जा सकती है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि आजकल के युवा अधिक उम्र में शादी करते हैं. क्योंकि ज्यादातर केसों में ये लोग पहले से ही साथ रहे होते हैं तो ऐसे में इन लोगों के पास जरूरत का हर सामान होता है. तो ऐसे में वो पैसे की डिमांड कर लेते हैं

शादियों का सीजन होता है तो मेहमान दूल्हा-दुल्हन के लिए गिफ्ट ले जाना नहीं भूलते हैं. हर मेहमान अपनी हैसियत के मुताबिक नये जोड़े को गिफ्ट देता है. लेकिन जब इन्हीं मेहमानों को पता चले कि दूल्हा-दुल्हन को गिफ्ट नहीं बल्कि उसके बदले पैसे चाहिए तो सोचिए क्या होगा. अमेरिका में आजकल यहीं ट्रेंड चल रहा है यहां दूल्हा-दुल्हन अपनी शादी में गिफ्ट नहीं मांग रहे, मांग कर रहे हैं पैसों की. ऐसा क्यों है इसके पीछे भी एक कारण है.

दरअसल हम सभी को पता है कि कोरोना ने पूरी दुनिया में ही आतंक मचा रखा है. लॉकडाउन लगने के बाद से लोगों की हालत खस्ता हो गई है. जेब से कड़की झेल रहे अमेरिकी युवा अब गिफ्ट की मांग नहीं कर रहे. अब उनको इसके बदले में पैसे चाहिए. इसके लिए ये लोग इन्विटेशन कार्ड पर लिखवा रहे हैं कि शादी में आएं, खाना खाएं और पूरा एन्ज्वाय करें. यदि आप गिफ्ट लाने की सोच रहे हैं तो वो न लाएं बल्कि उसके बदले पैसे देकर जाएं. इसके पीछे ये लोग तर्क दे रहे हैं कि उन्हें अपना नया घर खरीदना है जिसके लिए पैसों की जरूरत है.

गिफ्ट की जगह पैसे मांगने में नहीं है कोई शर्म

अमेरिका में चले इस नए ट्रेंड के मुताबिक नये जोड़े को पैसे मांगने में कोई शर्म महसूस नहीं होती है. इस मामले पर एक नये जोड़े का कहना है कि बहुत सारे अनचाहे गिफ्ट मिलने से अच्छा है कि वो पैसे मांग लें या अपनी जरूरत सामने रख दें. एक बयान के मुताबिक भले ही अमेरिकी संस्कृति में गिफ्ट के तौर पर पैसे स्वीकार करने का रिवाज सालों से हैं लेकिन इसे खुले तौर पर कभी नहीं मांगा गया है लेकिन अब लोगों का नजरिया बदल गया है.

कोरोना के बाद से बदल गया है ट्रेंड

अमेरिका में शादी कराने वाले लोगों का कहना है कि शादी में पैसे मांगने का ट्रेंड 2021 से लेकर अब तक बढ़ा है. तो वहीं दूसरी तरफ इस तरह के ट्रेंड पर सवाल उठ रहे हैं. अमेरिकी के फेमस कॉलमिस्ट थॉमस फार्ली का कहना है कि शादी कोई उगाही करने का साधन नहीं बल्कि एक जलसा है और जलसे में आने की कोई कीमत नहीं ली जा सकती है. हालांकि उन्होंने ये भी कहा है कि आजकल के युवा अधिक उम्र में शादी करते हैं. क्योंकि ज्यादातर केसों में ये लोग पहले से ही साथ रहे होते हैं तो ऐसे में इन लोगों के पास जरूरत का हर सामान होता है. तो ऐसे में वो पैसे की डिमांड कर लेते हैं