July 3, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

12 साल से कम आयु के बच्चों को Covaxin और Corbevax लगाने की मिली इजाजत

देश में बढ़ रहे कोरोना मामलों के बीच बच्चों के वैक्सीनेशन से जुड़ी अच्छी खबर सामने आ रही है. दरअसल अब 6 से 12 साल के बच्चों को लगेगा कोरोना का टीका. इस टीकाकरण के लिए कोवैक्सीन को मंजूरी दी गई. इससे पहले मार्च के महीने में 12 से 15 साल तक के बच्चों को कोविड से बचाव के लिए वैक्सीन लगाया गया था. अब DCGI ने 6 से 12 साल के बच्चों को कोवैक्सीन लगाने का फैसला लिया है.

वहीं समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया है कि ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी डीसीजीआई ने 5 से 12 साल के बच्चों को आपातकालीन इस्तेमाल के लिए Corbevax वैक्सीन लगाने की भी इजाजत दे दी है.
दरअसल कोरोना वायरस के पिछले लहर में बच्चों पर ज्यादा गहरा असर नहीं पड़ा था लेकिन इस नए वेरिएंट XE का चपेट में बच्चे भी आ रहे हैं. ऐसी आशंका जताई जा रही है कि को स्कूल खुलने के बाद इन मामलों में बढ़ातरी हो सकती है. हल्थ एक्सपर्ट की माने तो पिछले तीन हफ्तों में बच्चों में फ्लू जैसे लक्षणों में बढ़ोतरी नजर आई है. वहीं अब मंजूरी के बाद सरकार जल्द ही एक गाइडलाइंस जारी कर सकती है जिसमें बताया जाएगा कि देश में कब और कैसे ये वैक्सीनेशन शुरू करना चाहिए.

कोरोना वायरस के नए वेरिएंट XE के लक्षण

घबराहट
बुखार
हापोक्सिया
नींद या बेहोशी में बोलना
ब्रेन फॉग​
मानसिक भ्रम
वोकल कॉर्ड न्यूरोपैथी
हार्ट रेट हाई होना
त्वचा पर रैशेज या रंग बदलना
कोरोना वायरस के नए वेरिएंट XE से बचने के लिए क्या सावधानी बरतें

सभी को वैक्सीन जरूर लगवाना चाहिए और समय पर अपनी बूस्टर डोज लें.
जब भी भीड़-भाड़ वाली जगह पर जाएं हमेशा मास्क पहनकर रहें.
पब्लिक प्लेस पर कपड़े के मास्क की जगह सर्जिकल मास्क या N95 मास्क का ही इस्तेमाल करें.
सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें, लोगों से कम से कम 2 गज की दूरी बनाकर रखें.
बाहर से आने के बाद हाथों को अच्छी तरह से सैनिटाइज करें और साबुन से धोएं.
कहीं बाहर से आने पर नहाएं और अपने कपड़े वॉश करें.
सर्दी-खांसी से बचाव रखें और गरारे करते रहें.
इम्यूनिटी बढ़ाने वाले फल और सब्जियों का सेवन करें.