September 23, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

वजन घटाने के लिए खा रहे हैं रागी का आटा, तो पहले जान लें इसके नुकसान

जो लोग अपना वजन घटाना चाहते हैं वो अक्सर नॉर्मल गेहूं के आटे (Wheat Flour) की जगह जौ (Barley) का आटा, बाजरे (Millet) का आटा, राजगीरा या अमरंथ का आटा, सोया का आटा, कुट्टू का आटा आदि यूज करने लगते हैं. ऐसा ही एक हेल्दी ऑप्शन है रागी जिसे फिंगर मिलेट (Finger Millet) के नाम से भी जाना जाता है. रागी को ही कई जगहों पर नाचनी (Nachni) भी कहा जाता है.

न्यूट्रिएंट्स से भरपूर है रागी
सबसे अच्छी बात ये है कि रागी के आटे (Finger Millet Flour) में कोलेस्ट्रॉल (Cholesterol) और सोडियम (Sodium) जीरो पर्सेंट होता है जबकि फैट की मात्रा 7 प्रतिशत होती है. इसके अलावा इसमें डाइट्री फाइबर, कैल्शियम, प्रोटीन, पोटैशियम, आयरन भी भरपूर मात्रा में होता है. प्रोटीन और फाइबर (Protein and Fiber) के कारण इसे वेट लॉस के लिए सबसे अच्छा माना जाता है. इसके अलावा भी रागी के कई फायदे हैं.

  1. डायबिटीज में कारगर
    गेंहू या चावल के आटे की तुलना में रागी में पॉलिफेनॉल्स और फाइबर की मात्रा अधिक होती है और इसका ग्लाइसिमिक इंडेक्स भी कम होता है. इसलिए यह ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Control) को कंट्रोल करने में मदद करता है. सुबह का नाश्ता या दिन के लंच में रागी को शामिल करना फायदेमंद हो सकता है.
  2. एनीमिया में फायदेमंद
    आयरन (Iron) का बेहतरीन सोर्स है रागी इसलिए अगर किसी व्यक्ति को एनीमिया की बीमारी (Anemia) हो या शरीर में हीमोग्लोबिन का लेवल कम हो तो उसे रागी का सेवन जरूर करना चाहिए.
  3. प्रोटीन का रिच सोर्स
    शरीर के लिए जरूरी एमिनो एसिड (Amino Acid) और प्रोटीन से भरपूर होता है रागी. शाकाहारी लोगों की डाइट में अक्सर प्रोटीन सोर्स की कमी होती है. ऐसे में वे प्रोटीन की कमी को पूरा करने के लिए रागी का सेवन कर सकते हैं.
  4. तनाव होता है कम
    रागी में भरपूर मात्रा में एंटीऑक्सिडेंट्स होते हैं जो स्ट्रेस (Stress) यानी तनाव को घटाने में मदद करते हैं. अगर आपको एंग्जाइटी, डिप्रेशन या अनिद्रा की समस्या हो तो आप रागी जरूर खाएं. इससे फायदा होगा.

रागी खाने के बड़े नुकसान

  1. अगर किडनी में स्टोन या किडनी से जुड़ी कोई और समस्या हो तो ऐसे लोगों को रागी का सेवन नहीं करना चाहिए क्योंकि इसमें कैल्शियम की मात्रा अधिक होती है.
  2. थायरॉयड के मरीजों (Thyroid Patient) को भी रागी का सेवन नहीं करना चाहिए वरना उनकी दिक्कतें बढ़ सकती हैं.
    3.बहुत ज्यादा रागी खाने की वजह से कब्ज (Constipation), डायरिया (Diarrhoea), पेट में गैस, पेट फूलने जैसी दिक्कतें हो सकती हैं.