November 24, 2022

Jagriti TV

न्यूज एवं एंटरटेनमेंट चैनल

OTT के पासवर्ड के लिए स्टार्टअप, नेटफ्लिक्स के 22 करोड़ सब्सक्राइबर दूसरे 10 करोड़ लोगों से पासवर्ड शेयर कर रहे

OTT प्लेटफॉर्म से जुड़े लोग पासवर्ड की कीमत अच्छी तरह जानते हैं। मंथली सब्सक्रिप्शन की फीस से बचने के लिए एक पासवर्ड कई लोगों से शेयर होता है। यह काम देश में शगल-सा बन गया है। एक पासवर्ड परिवार में चाचा, बुआ से लेकर मौसी तक घूमता है। ‘पारिवारिक मित्र’ तक भी पहुंचता है।

पासवर्ड शेयरिंग से कई OTT प्लेटफॉर्म अच्छा-खासा घाटा उठा रहे हैं। नेटफ्लिक्स ने बताया है कि जनवरी-मार्च 2022 में दुनियाभर में 2 लाख सब्सक्राइबर घटे। ऐसा एक दशक में पहली बार हुआ। अनुमान है कि दुनियाभर में नेटफ्लिक्स के 22.2 करोड़ सब्सक्राइबर अन्य 10 करोड़ लोगों से पासवर्ड शेयर करते हैं।

स्टार्टअप मामूली कीमत पर पासवर्ड दे रहे
पासवर्ड पाने और फीस न चुकाने की जद्दोजहद ने ही देश में कई नए बिजनेस और स्टार्टअप खड़े कर दिए हैं। ये जुगाड़ स्टार्टअप मामूली कीमत पर पासवर्ड उपलब्ध करवा रहे हैं। दिल्ली का एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर आधी कीमत में OTT सब्सक्रिप्शन उपलब्ध करवा देता है।
एक पासवर्ड 5-10 ऐसे लोगों को बेचा जाता है, जो अलग-अलग समय पर प्लेटफॉर्म पर मूवी या सीरीज देखते हैं। इसलिए समस्या नहीं होती। दिल्ली में ऐसे सैकड़ों रिसेलर हैं, जो कम दाम में OTT सब्सक्रिप्शन उपलब्ध कराते हैं। इसी तरह कई लोग टेलीग्राम और इंस्टाग्राम पर भी सब्सक्रिप्शन के पासवर्ड बेचने का बिजनेस करने लगे हैं।

5 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से सब्सक्रिप्शन देने का प्लान बना रहे
दिल्ली सरकार की मार्च में हुई बिजनेस ब्लास्टर इवेंट में 12वीं के 4-5 छात्रों ने ‘OTT हब’ आइडिया पेश किया था। जो लोग एक या दो फिल्म देखना चाहते हैं, उनके लिए इस स्टार्टअप का प्लान 5 रुपए प्रति घंटे के हिसाब से सब्सक्रिप्शन देने का है।

शेयरिंग की समस्या से बचने के लिए नेटफ्लिक्स ने मार्च में तीन लैटिन अमेरिकी देशों में नई पॉलिसी का ट्रायल किया। परिवार से इतर पासवर्ड शेयर करने पर अतिरिक्त शुल्क मांगा। इस पर कई यूजर ने सब्सक्रिप्शन कैंसल कर दिए। इसी बीच प्लेटफॉर्म ने पासवर्ड शेयर करने के लिए दायरा भी परिभाषित किया है। पहली बार उसने यह स्पष्ट किया है कि घर के बाहर पासवर्ड शेयर नहीं किया जा सकता। घर यानी जहां सब्सक्राइबर रहता है।